गुरुवार, 7 जनवरी 2016

रक्त दान


समय समय पर करो  रक्त दान ।
हर जुबां कहेगी कितना महान ॥ 

कवि अमृत ‘वाणी’
अमृतलाल चंगेरिया (कुमावत)

कोई टिप्पणी नहीं: