बुधवार, 13 जनवरी 2010

हे खुदा !

हर इंसा की जिंदगी में
कम से कम एक बार
एक ऐसा दौर आना चाहिए कि
उस दौर के दौरान वो शख्स
हर दौर से गुज़र जाना चाहिए |

अमृत 'वाणी'


Untitled-1 copy

कोई टिप्पणी नहीं: